होम
  संगठन
  एफ ए क्यू
  सेवानिवृत अघिकारी
  भूमिका और कार्य
  नागरिक चार्टर
  इतिहास
 
 होम »
 
                                                                   
 
1. गुणता आश्‍वासन महानिदेशालय (DGQA) का गठन 1869 में हुआ था, जब आयुध फैक्टरी, किरकी में पहला निरीक्षणालय स्थापित किया गया था। तब से प्रथम विश्व युद्ध के अंत तक सेना के लिए युद्ध सामग्री, सामान्य सामग्री, कपड़े, इलेक्ट्रॉनिक सामग्री, औजार, वाहन और इंजीनियरिंग सामग्री की मांग अधिकाशतः यूके से आयात द्वारा पूरी की जाती थी। बाद मे, युद्ध सामग्री देश में ही तैयार किए जाने के लिए कुछ सुविधाएं जुटाई गईं। उन दिनों भी यह अनुभव किया गया था कि रक्षा सामग्री, भंडार और उपकरणों के क्षेत्र में पर्याप्त निरीक्षण इकाईयां निर्माण स्थापनाओं का कार्य देखें। तदनुसार निम्नलिखित स्थापनाएं स्थापित की गईं :
   
क्र.
आरंभ के वर्ष
निरीक्षणइकाईयां
1.
1869/1911

आयुध फैक्टरी निरीक्षणालय, किर्की.

2.
1904
गन कैरिज फैक्टरी निरीक्षणालय, जबलपुर.
3.
1908
सी.आई.एम.ई., किर्की.
4.
1911
राइफल फैक्टरी निरीक्षणालय, इच्छापुर.
5.
1912
हार्नेस एंड सेडलरी फैक्टरी निरीक्षणालय, कानपुर.
6.
1929
जी.एंड एस. फैक्टरी  निरीक्षणालय, कोसीपुर
7.
1929/1940
मुख्य निरीक्षणालय मैकेनिकल ट्रांसपोर्ट, चाकिलिका, रावलपिंडी (अब पाकिस्तान में).
8.
1934
जनरल स्टोर निरीक्षणालय, कानपुर
9.
1939
वैज्ञानिक सामग्री निरीक्षणालय, रावलपिंडी (अब पाकिस्तान में).
10.
1940
मैटल और स्टील निरीक्षणालय, इच्छापुर.
11.
1941
मुख्य इंजीनियरिंग निरीक्षणालय, कोलकाता.
12
1946
टीडीई (आई. एंड ई.), देहरादून के रूप में पुननार्मत
13.
1947
टी.डी.ई. (वाहन), अहमदनगर के रूप में पुननार्मत
 
 

कॉपीराइट 2007-2010 गुणवत्ता आश्वासन महानिदेशालय, रक्षा उत्पादन विभाग, रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार.
साइट का सबसे अच्छा दृश्य इंटरनेट का अन्वेषण 4.0 या नेटस्केप 4.0 और नवीनतम संस्करण, और 1024 x 768 संकल्प.