होम »
 

 

सिविल सेक्टर की फर्मों को रक्षा सामग्री और उपकरणों के देशीकरण के संबंध में उत्कृष्ट कार्यनिष्पादन के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार योजना :
 

पृष्ठभूमि :

तेजी से बदलते अन्तर्राष्ट्रीय परिवेश को देखते हुए क्रमिक विकास के लिए रक्षा तैयारियों में भारतीय उद्योग की भागीदारी।

कलपुर्जों के मामले में आयातित उपकरणों / प्रणालियों विशेषकर पूर्व यूरोपीय देशों के ब्लॉक के संदर्भ में आत्मनिर्भर होने की तत्काल आवश्यकता है।

विकसित होते विश्व में सुलभ पहुंच के साथ , निजी क्षेत्र आत्मनिर्भरता प्राप्त करने और आयात का बोझ कम करने के लिए अब बहुत सही स्थिति में है।

रक्षा उपकरणों के देशीकरण में उत्कृष्ट कार्य के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार दिए जाने की एक योजना आरंभ की गई है, जिसका उद्देश्य भारतीय उद्योग जगत द्वारा रक्षा उपकरणों की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए किए जाने वाले प्रयासों को पहचान देना है, क्योंकि इस समय ये उपकरण आयात किए जा रहे है।

साथ ही उद्योग जगत को उच्चतर प्रौद्योगिकी के साथ अधिकाधिक वस्तुओं के देशीकरण के लिए प्रोत्साहित करना भी है।   

 

उद्देश्य :

 
इस योजना का उद्देश्य सिविल क्षेत्र की फर्मों को प्रोत्साहित करना है :-
 
  • रक्षा उपकरणों एवं सामग्री के प्रारंभिक विकास और उत्पादन कार्यों के लिए देश में ही उन्हें डिजाइन करना ताकि वे आयातित सामग्री का स्थान ले सकें।
  • कलपुर्जों का देशीकरण और आयातित उपकरणों के लिए सब-असेम्बली कार्य।
  • रक्षा आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए देशी उत्पादों की गुणता में सुधार करना।
 

 

कॉपीराइट 2007-2010 गुणवत्ता आश्वासन महानिदेशालय, रक्षा उत्पादन विभाग, रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार.
साइट का सबसे अच्छा दृश्य इंटरनेट का अन्वेषण 4.0 या नेटस्केप 4.0 और नवीनतम संस्करण, और 1024 x 768 संकल्प.